CBI विवाद पर बोलीं मायावती- उठापटक के लिए अफसरों से ज्यादा नरेंद्र मोदी सरकार जिम्मेदार

CBI विवाद पर बोलीं मायावती- उठापटक के लिए अफसरों से ज्यादा नरेंद्र मोदी सरकार जिम्मेदार
Politics

CBI विवाद पर बोलीं मायावती- उठापटक के लिए अफसरों से ज्यादा नरेंद्र मोदी सरकार

2018-10-25 11:59:53

CBI विवाद पर बोलीं मायावती- उठापटक के लिए अफसरों से ज्यादा नरेंद्र मोदी सरकार जिम्मेदार

मायावती ने सीबीआई में जारी विवाद के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है.

लखनऊ: सीबीआई (CBI) में जारी उठापटक के बीच इस पर सियासत भी शुरू हो गई है. एक तरफ कांग्रेस इस मुद्दे पर भाजपा को घेर रही है तो दूसरी तरफ अब बसपा प्रमुख मायावती भी इस पूरे विवाद में कूद पड़ी हैं. मायावती ने सीबीआई के टॉप अधिकारियों के बीच चल रही 'नूराकुश्ती' के लिये केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि इस संकट के लिये अफसरों से कहीं ज्यादा केन्द्र सरकार ज़िम्मेदार है. कहा कि सीबीआई में विभिन्न प्रकार के हस्तक्षेपों के चलते पहले भी काफी कुछ गलत होता रहा है. अब इस एजेंसी में जो भी उठापटक हो रही है, वह देश के लिये बहुत बड़ी चिन्ता की बात है. उन्होंने कहा कि सीबीआई में इस उठापटक के लिये अफसरों से कहीं ज्यादा केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ज़िम्मेदार है, क्योंकि उसकी द्वेषपूर्ण, जातिवादी तथा साम्प्रदायिकता पर आधारित नीतियों और कार्यों ने सीबीआई ही नहीं, बल्कि हर उच्च सरकारी, संवैधानिक तथा स्वायत्त संस्था को संकट और तनाव में डाल रखा है.
 

बसपा सुप्रिमो ने कहा कि ताजा घटनाक्रम से जनता में अनेक भ्रान्तियां पैदा हो रही हैं और इस बहुचर्चित विषय पर मीडिया में लगातार हो रही बहस से लोगों का सीबीआई पर से भरोसा काफी डगमगाया लगता है. सीबीआई में पिछले कई दिनों से जारी तनातनी के बाद केन्द्र सरकार द्वारा की गयी कार्रवाई का जिक्र करते हुए मायावती ने कहा कि अब यह मामला स्वाभाविक तौर पर उच्चतम न्यायालय के समक्ष चला गया है, जो कि अच्छी बात है. उन्होंने कहा कि इस जांच एजेंसी पर लोगों का भरोसा बहाल करने के लिये जरूरी है कि न्यायालय वर्तमान संकट का विस्तार से तथा अति-प्रभावी रूप से संज्ञान ले. आपको बता दें कि इस मसले पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सरकार पर हमला बोला है. ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा, "सीबीआई अब बीबीआई (बीजेपी ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन) बन गई है.. यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है." 

source